अर्पिता मुखर्जी के एक और घर में ईडी की छापेमारी, कैश गिनने के लिए मशीनें भी लाए


ईडी सूत्रों से जानकारी मिली है कि पार्थ चटर्जी के करीबी सहयोगी अर्पिता मुखर्जी के एक और घर में ईडी के अधिकारी छापेमारी कर रहे हैं। कैश गिनने के लिए ईडी के अधिकारी मशीनें भी लाए हैं।
ममता सरकार के कद्दावर नेता पार्थ चटर्जी की गिरफ्तारी के बाद शिक्षक भर्ती घोटाले से जुड़े नए खुलासे हो रहे हैं। ईडी सूत्रों से जानकारी मिली है कि पार्थ चटर्जी के करीबी सहयोगी अर्पिता मुखर्जी के एक और घर में ईडी के अधिकारी छापेमारी कर रहे हैं। कैश गिनने के लिए ईडी के अधिकारी मशीनें भी लाए हैं। इससे पहले अर्पिता के घर से 21 करोड़ रुपये कैश बरामद हुए थे। जिसे लेने के लिए आरबीआई की ओर से ट्रक भी पहुंचे थे।

प्रवर्तन निदेशालय के अधिकारी बंगाल के गिरफ्तार मंत्री पार्थ चटर्जी की करीबी सहयोगी अर्पिता मुखर्जी के घर से 21 करोड़ रुपये की नकदी बरामद कर चुके हैं। इस छापेमारी के कुछ दिन बाद अधिकारियों को अर्पिता के एक और घर से पैसों का अंबार मिला है। बताया जा रहा है कि अधिकारी कैश काउंटिंग मशीन अर्पिता के अपार्टमेंट में गए हैं, जहां दोपहर से तलाशी की जा रही है।

गौरतलब है कि पिछले हफ्ते ईडी के अधिकारियों को अर्पिता मुखर्जी के घर से 21 करोड़ रुपये नकद मिले थे। जांच एजेंसी ने पश्चिम बंगाल में एक कथित शिक्षक भर्ती घोटाले के सिलसिले में अर्पिता मुखर्जी के आवास पर छापा मारा था। बरामद राशि उक्त एसएससी घोटाले के अपराध की आय होने का संदेह है।
अर्पिता मुखर्जी ने बाद में ईडी को बताया कि उनके घर से बरामद पैसे बंगाल के मंत्री पार्थ चटर्जी के हैं। उसने एजेंसी को बताया कि उससे जुड़ी कंपनियों में पैसा लगाया जाना था। पूछताछ के दौरान अर्पिता ने बताया कि उसकी योजना एक-दो दिन में उसके घर से नकदी के ढेर को हटाने की थी। लेकिन एजेंसी के छापे ने योजना को विफल कर दिया।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: