BILASPUR UNIVERSITY NEW ADMISSION विश्वविद्यालय द्वारा सभी महाविद्यालयों में प्रवेश हेतु जारी हुई अधिसूचना

BILASPUR UNIVERSITY NEW ADMISSION विश्वविद्यालय द्वारा सभी महाविद्यालयों में प्रवेश हेतु जारी हुई अधिसूचना

उपरोक्त विषयांतर्गत संदर्भित प्रस्ताव के संबंध में छ.ग. उच्च शिक्षा विभाग, के अंतर्गत संचालित छ.ग. के शैक्षणिक संस्थानों के लिए शैक्षणिक सत्र 2022-23 का अकादमिक कैलेण्डर आवश्यक कार्यवाही हेतु संलग्न प्रेषित है।

नोट:- अपरिहार्य कारणवश शैक्षणिक कार्य दिवस निर्धारित मानक 180 दिवसों से कम होने की स्थिति में समस्त महाविद्यालयों एवं विश्वविद्यालयों में अपने स्तर पर शैक्षणिक कालखण्डों की अवधि में वृद्धि कर शैक्षणिक दिवसों की पूर्ति की जाए ताकि अकादमिक केलेण्डर का पालन सुनिश्चित हो।

नियमित विद्यार्थी के रूप में वार्षिक परीक्षा में बैठने की पात्रता :

1. प्रत्येक विषय में कक्षाओं में 75 प्रतिशत उपस्थिति अनिवार्य है।

2. कुल 7 आंतरिक परीक्षाओं कक्षाओं में से कम से कम 5 में सम्मिलित होना अनिवार्य है बिना इसके वार्षिक परीक्षा में बैठने की अनुमति नहीं दी जाये।

3. एन.सी.सी. / एन.एस.एस. कैम्प / खेलकूद / राज्य स्तरीय प्रतिस्पर्धाओं में सम्मिलित हुए छात्रों को उपस्थित माना जाये।

4. कक्षाओं में उपस्थिति की प्रथम गणना 30 नवम्बर तक की जाये।

5. कम उपस्थिति वाले छात्रों को तथा उनके पालको को सूचना दी जाये।

6. कक्षाओं में उपस्थिति की द्वितीय गणना 28 फरवरी तक की जाये।

प्रत्येक कार्य दिवस पर शिक्षक को महाविद्यालय / विश्वविद्यालय शिक्षण विभाग में 07 घण्टे रूकना आवश्यक होगा।

1. प्रातः कालीन पाली के लिए – प्रातः 07:30 से 02:30 अपरान्ह प्रातः 10:30 से 05:30 संध्या

2. द्वितीय कालीन पाली के लिए – 07 घण्टे का कार्य विवरण –
6 घण्टे अध्ययन-अध्यापन कार्य (प्रायोगिक, ट्यूटोरियल, रेमेडियल, शोधकार्य, लाईब्रेरी वर्क शामिल है।)

1 घण्टा अन्य कार्य (खेलकूद, रिकियेशन, प्राचार्य द्वारा प्रदत्त कार्य, विद्यार्थियों का शंका समाधान, नैक मूल्यांकन संबंधी कार्य )

4. समस्त प्रकार की बैठक / स्टॉफ कौंसिल की बैठक दोपहर 03:00 बजे के पश्चात् आयोजित की जावे।

5. विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित परीक्षाओं के संचालन एवं मूल्यांकन से संबंधित कार्य का अनिवार्यतः निष्पादन करेंगे।

6. छ.ग. शासन, उच्च शिक्षा विभाग के निर्देशानुसार सभी महाविद्यालयों एवं विश्वविद्यालयों में हेल्प डेस्क का गठन कर विद्यार्थियों को वांछित जानकारियाँ प्रदान करेंगें।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: