BIG BREAKING: सभी 25 लाख छात्र छात्राओं की परीक्षाओं के लिए जारी हुई अहम सूचना!

BIG BREAKING: सभी 25 लाख छात्र छात्राओं की परीक्षाओं के लिए जारी हुई अहम सूचना!

आईटी-ऑटोमेशन, कन्ज्यूमर सर्विस, एचआर, सोशल मीडिया और गेम इंडस्ट्री के बाद अब पहली बार भारत में 80 करोड़ की एजुटेक इंडस्ट्री में भी आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) का कोचिंग सेक्टर में इनोवेशन किया गया है।

कोचिंग हब कोटा में आईआईटी बॉम्बे, मद्रास और कानपुर के एक्सपर्ट ने दो साल तक 25 लाख स्टूडेंट्स का डेटा एनालिसिस कर यह तकनीक डेवलप की है। डेवलपर्स का दावा है कि यह इस सेक्टर का अपने तरह का पहला इनोवेशन है,

जो एजुकेशन इंडस्ट्री में आईआईटी जेईई जैसी एग्जाम की तैयारी करने वाले बच्चों के लिए इंडिविजुअल वर्चुअल मेंटर होगा। इसके सॉफ्टवेयर का फ्रेमवर्क तैयार कर लिया है। इस टूल के जरिए एकेडमिक और बिहेवियर, दोनों ही पाइंट पर माइक्रो एनालिसिसि कर स्टूडेंट्स को इंडिविजुअल टारगेट सेटिंग और बेहतर रिजल्ट के लिए सजेशन मिलेगा।

इनोवेशन • परीक्षाओं के लिए निकाला रास्ता

• नो योर स्टैंड स्टूडेंट को टारगेट सेट करने में सबसे महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। यह बताएगा कहां हैं, कहां पहुंचना है। बीहेवियर नीडेड इंड्यूरेंट, सलेक्टिविटी, स्टेमिना और स्टबन का एनालिसिस टाइमिंग करेक्ट, ओवर टाइम, अनअटैम्प्ट सवाल, टॉपिक सहित हर पाइंट पर टाइम एनालिसिसि बुक मार्क सभी गलत किए सवालों को वर्चुअल रैक में रखेगा। उन्हें रिजाल्व कर स्कोर किया जा सकेगा। एनर्जी लेवल पेपर के दौरान किस ड्यूरेशन में हाईली एक्टिव और किसमें एनर्जी लेवल डाउन था।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: