CG Board छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा बोर्ड द्वारा कक्षा 10वीं तथा 12वीं में प्रवेश हेतु जारी हुई अधिसूचना

CG Board छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा बोर्ड द्वारा कक्षा 10वीं तथा 12वीं में प्रवेश हेतु जारी हुई अधिसूचना

शैक्षणिक सत्र 2022-23 में केवल सत्र 2020-21 एवं वर्ष 2021-22 के इस बोर्ड अथवा मण्डल की समकक्षता / मान्यता प्राप्त अन्य बोर्ड से हाईस्कूल परीक्षा उत्तीर्ण (कक्षा 10वीं) तथा वर्ष 2021-22 के कक्षा 11वीं में प्रथम बार अनुत्तीर्ण विद्यार्थियों को ही कक्षा 11वीं में प्रवेश की पात्रता होगी। कक्षा 10वीं तथा 12वीं हेतु
कक्षा 10वीं एवं 12वीं में नियमित रूप से निम्नलिखित परीक्षार्थी को प्रवेश दिया जा सकेगा:

(i) ऐसे परीक्षार्थी जिन्होंने कक्षा 9वीं एवं 11वीं की परीक्षा वर्ष 2022 में उत्तीर्ण की है वे अगली कक्षा में प्रवेश हेतु पात्र होगें। (ii) कक्षा 10वीं एवं 12वीं की परीक्षा 2022 में नियमित रूप से सम्मिलित हुये ऐसे परीक्षार्थी जो प्रथम बार उक्त परीक्षा में अनुत्तीर्ण रहे हों उन्हें उसी कक्षा में पुनः प्रवेश दिया जा सकेगा।

(iii) सत्र 2020-21 की कक्षा 8वीं कक्षा 9वीं कक्षा 10वीं एवं कक्षा 11वीं की प5 / 10 उत्तीर्ण हुए ऐसे परीक्षार्थी जो किसी कारणवश शैक्षणिक सत्र 2021-22 में हाईस्कूल एवं हायर सेकण्डरी परीक्षा में सम्मिलित नहीं हो सके हों अर्थात उनका एक वर्ष का अन्तराल (GAP) आया हो, ऐसे परीक्षार्थी एक वर्ष अंतराल (GAP) का शपथ-पत्र प्रस्तुत कर सत्र 2022-23 में अगली कक्षा में प्रवेश के लिए पात्र होगें।

(iv) मण्डल की कक्षा 10वीं एवं 12वीं की परीक्षा वर्ष 2021 या 2022 में सम्मिलित ऐसे परीक्षार्थी जो उत्तीर्ण तो हो गये हैं, किन्तु श्रेणी सुधार की परीक्षा देना चाहते हैं, तो ऐसे छात्रों को नियमित प्रवेश दिया जा सकेगा किन्तु जो छात्र वर्ष 2021 या 2022 के पूर्व के वर्षो में 10वीं या 12वीं परीक्षा में उत्तीर्ण हुए हैं वे श्रेणी सुधार परीक्षा हेतु पात्र नहीं होंगे। इस योजना में केवल एक अवसर ही मिलेगा श्रेणी सुधार में विषय / संकाय परिवर्तन मान्य नहीं है तथा 2021 के परीक्षार्थियों को एक वर्ष अंतराल (GAP) का शपथ-पत्र प्रस्तुत करना आवश्यक होगा।

(V) अन्य बोर्ड से उत्तीर्ण कोई छात्र यदि आपकी संस्था में कक्षा 12वीं में प्रवेश लेता है तो छात्र की 10वीं बोर्ड की अंकसूची का सत्यापन संबंधित बोर्ड से कराया जाना आवश्यक है। किसी भी परिस्थिति में गलत पाये जाने पर सम्पूर्ण जवाबदारी संबंधित संस्था के प्राचार्य की होगी।

नोट :- दो वर्ष या उससे अधिक एक ही कक्षा में लगातार अनुत्तीर्ण होने पर तथा एक वर्ष से अधिक का अंतराल (GAP) होने पर विद्यार्थी केवल स्वाध्यायी परीक्षा में सम्मिलित हो सकेगें।

Join in Group 👉 Link 👈

Leave a Comment

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: